विधानसभा घेराव के लिए किसानों का पैदल जत्था झुंझुनूं से जयपुर हुआ रवाना

0
10

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज किसानों के 50 हजार रुपए तक के ऋण माफ करने की घोषणा के अलावा किसान ऋण राहत आयोग का गठन का ऐलान किया है. वहीं किसान नेता कामरेड अमराराम का इस पर कहना है कि सरकार ने नियम कायदों की आड़ में अभी आधी अधूरी घोषणा की है. इसी क्रम में आज झुंझुनूं से किसानों का पहला पैदल जत्था 22 फरवरी को विधानसभा के घेराव के लिए रवाना हुआ.

किसानों का कहना है कि बजट घोषणा के मुताबिक लघु और सीमांत किसानों का वही कर्ज माफ होगा जो कॉपरेटिव बैंकों से लिया गया है. जबकि उनके साथ जो समझौता हुआ है उसमें हर वर्ग के किसान और हर बैंक से लिए गए 50 हजार रुपए तक के कर्ज माफ करने की बात कही गई है.

उन्होंने इसे सरकार की मंशा में खोट बताया और कहा कि किसान सभा में पूर्व में ही आह्वान किया था कि 22 फरवरी को विधानसभा का घेराव करेंगे. किसानों का कहना है कि इस दिशा में आंदोलन जारी रहेगा. किसानों की आवाज को बुलंद करते हुए शहादत पाने वाले बालूराम, रामदेव-करणीराम के स्मारक पर जाकर किसानों ने आशीर्वाद लिया और झुंझुनूं से जयपुर कूच किया.