सीएम योगी आदित्यनाथ आज अयोध्या से करेंगे निकाय चुनाव का शंखनाद

0
6

मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद निकाय चुनाव योगी आदित्यनाथ की सबसे बड़ी परीक्षा होंगे। इसके लिए वह बेहद गंभीर भी नजर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में 22 नवंबर से होने जा रहे निकाय चुनाव में अपने प्रचार अभियान का आज से शंखनाद करेंगे। आज अयोध्या से वह अपना अभियान शुरू करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अयोध्या से निकाय चुनाव प्रचार का शुभारंभ करेंगे। उनके साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय भी होंगे। इसके बाद वह गोंडा और बहराइच की सभा को भी संबोधित करेंगे। निकाय चुनाव प्रचार के लिए योगी की 36 सभाएं तय हो चुकी हैं और आगे इसमें वृद्धि भी हो सकती है, लेकिन अयोध्या उनकी प्राथमिकता बनी है। निकाय चुनाव 22 नवंबर से तीन चरणों में होंगे। मार्च में विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली जबरदस्त सफलता के बाद निकाय चुनावों को योगी आदित्यनाथ सरकार की लोकप्रियता का लिटमस टेस्ट माना जा रहा है।

राम जन्म भूमि आंदोलन में योगी के गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। खुद योगी का भी अयोध्या से लगाव है। योगी आदित्यनाथ की मुख्यमंत्री बनने के बाद उनकी अयोध्या की यह चौथी यात्रा होगी। अयोध्या में वह करोड़ों की परियोजनाओं के श्रीगणेश के साथ दीपावली पर्व को यादगार बना चुके हैं। भाजपा अयोध्या से उनकी सभा की शुरुआत को एक खास संदेश के रूप में प्रचारित करने में लगी है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन कहते हैं कि मुख्यमंत्री की इस यात्रा से आम जनता के बीच सकारात्मक संदेश जाएंगे।

अयोध्या और मथुरा-वृंदावन दो नगर निगमों को भाजपा ने प्रतिष्ठा से जोड़ लिया है। भाजपा यहीं से ङ्क्षहदुत्व के एजेंडे को धार देने में जुटी है। गोरखपुर नगर निगम मुख्यमंत्री और वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र से जुड़ा है। इस वजह से ये दोनों सीटें भी वीवीआइपी हो गई हैं। भाजपा ने हर नगर निगम को किसी न किसी वजह से खास बना दिया है। विपक्ष भी भाजपा की राह रोकने में पूरी ताकत से जुटा है।

योगी और डॉ. पांडेय मंगलवार को हेलीकॉप्टर से 11 बजे राजकीय इंटर कालेज अयोध्या, फैजाबाद पहुंचेंगे। 11 बजकर 50 मिनट पर जनसभा को संबोधित करेंगे तथा एक बजकर 45 मिनट पर हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइंस, गोंडा पहुंचेंगे। इसके बाद गोंडा में शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह इंटर कालेज टामसन मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे। तीन बजकर 45 मिनट पर पुलिस लाइन बहराइच पहुंचेंगे और महराज सिंह इंटर कालेज मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे। सायं छह बजे लखनऊ वापसी होगी।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य आज बरेली में मनोहर भूषण इंटर कालेज में नगर निगम कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे तथा सायं चार बजे से छह बजे तक मुरादाबाद में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा मंगलवार को कानपुर में जनसभा को संबोधित करेंगे।

योगी कल जाएंगे कानपुर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 19 नवंबर तक के चुनावी कार्यक्रम तय हो गए हैं। अयोध्या से मंगलवार को उनकी सभा शुरू हो रही है। बुधवार, 15 नवंबर को वह कानपुर नगर निगम की चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। योगी केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के यहां आयोजित निजी कार्यक्रम में भी भाग लेंगे। शाम को वह वापस लखनऊ आ जाएंगे। 16 नवंबर को वह देवरिया, आजमगढ़ और बस्ती नगर पालिका परिषद की सभाओं को संबोधित कर शाम को गोरखपुर नगर निगम की सभा को संबोधित करेंगे।

रात्रि विश्राम गोरखपुर में ही करेंगे। 17 नवंबर को वह लखनऊ आएंगे। सूत्रों का कहना है कि इस दिन बिल गेट्स आ रहे हैं। उनकी मुलाकात होनी है। इसके बाद दोपहर को वह गाजीपुर की सभा को संबोधित करने चले जाएंगे। 17 को ही वह वाया बनारस होकर दिल्ली चले जाएंगे। 18 नवंबर को मुख्यमंत्री मुजफ्फरनगर, मेरठ और गाजियाबाद नगर निगम में आयोजित भाजपा की सभाओं को संबोधित करेंगे। इसके बाद वह दिल्ली चले जाएंगे। 19 की सुबह वह दिल्ली से अलीगढ़, मथुरा और फिर आगरा में आयोजित सभा को संबोधित करेंगे। शाम को उनकी वापसी लखनऊ होगी।

चुनाव प्रचार में अभियान को गति

भाजपा ने निकाय चुनाव प्रचार में अभियान को गति दे दी है। इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और संगठन के पदाधिकारियों के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का व्यापक दौरा लगा है। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा भी चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे हैं। मंत्री, सांसद, विधायक और संगठन के पदाधिकारी भी लगातार कैंप और सभा कर रहे हैं। भाजपा सरकार और संगठन के समन्वय से चुनाव प्रचार में ही विपक्ष को मात देने में लगी है।

भाजपा ने प्रचार की आक्रामक रणनीति बनाई है। पहली बार निकाय चुनाव में संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) जारी कर आम जनता के बीच उम्मीद जगाई है। शहरों में विश्व स्तरीय सुविधाएं देने का वादा करने के साथ ही गृह कर और जलकर जैसे करों में छूट और नागरिक सुविधाओं को प्राथमिकता देकर भाजपा ने विपक्ष को घेर दिया है।

सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा के संकल्प पत्र को छल बताकर हमला भी किया है। भाजपा आक्रामक शैली, विपक्ष के बिखराव और अपनी ठोस रणनीति के तहत चुनावी मुहिम को अपने पाले में करने में जुटी है।

पिछली बार 12 नगर निगमों में चुनाव हुए थे, लेकिन इस बार 16 नगर निगमों में चुनाव हो रहे हैं। बसपा की ओर से भी आक्रामक शैली अपनाई जा रही है। नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों में भी कमोवेश यही स्थिति है।

NO COMMENTS